अवशेष

इश्क़ के इतने किस्सों में भी हम पीछे ही रह गए
इश्क़ आया हिस्सों में और हम हिस्से ही रह गए।

ये पोस्ट औरों को भेजिए -

2 thoughts on “अवशेष”

Leave a Reply to Chakresh Surya Cancel reply