पिता

पिता यूनिवर्स की तरह हैउसके भीतर की गहराई नापनामुमकिन ही नहीं हैयूनिवर्स की तरह हीवो … Read more

राय

कुछ लोग अपनी फ़ितरत बदलते हैं हर दिनयूँ किसी के बारे में इक राय बनाना … Read more

मुलाक़ात

इक वो मुलाक़ात बड़े वक़्त से ठहरी हुई हैइक ये वक़्त है जो कमबख्त़ ठहरता … Read more

सच

जो दिल में है गर वो ज़ुबाँ तक आ जाएगासुनने वालों का कलेजा मुँह तक … Read more

जैसे को तैसा

ज़िंदगी जब तुम्हारे मज़े लेने लगे,तो शिक़ायत मत किया करो,अमां यार, जब तुमने उसके लिये … Read more