जैसे को तैसा

ज़िंदगी जब तुम्हारे मज़े लेने लगे,तो शिक़ायत मत किया करो,अमां यार, जब तुमने उसके लिये … Read more

सफ़र

मैं रात भर उसे तकता रहा,वो पूरी रात बेफ़िक्री से सोती रही,इस तरह एक खूबसूरत … Read more

जाम

मैं इक प्याला हूँ ज़िन्दगी का, और खालीपन से भरा बैठा हूँ,मेरी तन्हाई के लम्हे … Read more

ग़लतफ़हमी

तुम्हारी दुनिया की रौनक भी मैं,तुम्हारी साँसों की खलिश भी मैं,ज़रा सोचकर देखो,मेरे बगैर तुम्हारी … Read more