Intensity

इस मर्तबा दिल ही नहीं भरोसा भी टूटा है इस मर्तबा दर्द भी ज़्यादा है … Read more

नाटक

तुम मेरे थे ही नहीं कभी और होने का नाटक करते रहे बेबाक़ी से झूठ … Read more

What’s your take!

सुलह भी नहीं करनी हल मसला भी नहीं करना तुम्हें नफ़रत नहीं करनी हमें इश्क़ … Read more

Insomnia

यूँ ही बैठा रहता हूँ बिस्तर पे देर रात तलक कि तेरी यादें उठें जायें … Read more

Pause

मैं तुम पर आता हूँ तो रुक जाता हूँ उतना ही जितना पहली दफ़ा रुका … Read more

सुझाव

हम होना जो चाहते हो तो मैं मैं करना बंद करो दिल में रहना चाहते … Read more

Feelings

हमेशा अच्छा लगे ये ज़रूरी नही इश्क़ में थोड़ा बुरा भी लगना चाहिए

ग़लती

मैं… मैं ग़लतियों का पुलिंदा हूँ और ख़ुदकी की ग़लती किसे दिखती है अक्सर नहीं … Read more