ये शायद मैं हूँ…

तेरे सवालों पर मेरी चुप्पी, तुमसे बहुत कुछ कहती है,पर आज तक क्या कोई खामोशी … Read more

प्यास

बारिश का दिन और पानी ही पानी….फिर भी प्यास है कि बुझती नहीं..

मेरा यकीन…

अपने यकीन को ख़ुद से सरकने मत देना,यूँ किसी पर हुआ तो, गिर जाएगा।